About me

About Me

I am a song lover Neha Deswal from Rohtak Haryana.

The school had a time of recess. I was with some girls from my class.

They were all thinking of buying something to eat from the school canteen.

When they approached the canteen I said I will not come because I do not have money.

One of those girls said to me, bring me some money in school, then they went away and I went searching for somebody.

After that day, those 30 minutes of the recess of school I have never felt good.

I always thought that it should get out quickly in 30 minutes.

In the Recess, I used to sit alone in any corner of the school and would wait for the bell when I will go and I will go to class.

After school, I had to reach home early because my mother used to go to work and I had to take care of my younger sister.

Many times my mother used to take my younger sister with me to school so that I could go home with her and my mother would do her work.

Friends, this is the truth of a poor, there is no friend of the poor and if he is, then he is also poor.

This is what I decided to do and resulted in the fact that today I am a successful blogger.

Today, I have no shortage of anything and I am also happy that I have done all this with my words.

Latest Songs Bollywood,

Hollywood Punjabi

Lyrics, etc.

Download Jattfm

New Punjabi song 2019,

Djjohal,

Djpunjab,

About me

ABOUT

स्कूल में recess का टाइम था. मैं अपनी क्लास की कुछ लड़कियों के साथ थी.

वे सब स्कूल की कैंटीन से कुछ खाने लिए खरीदने की सोच रहे थे |

जब वे कैंटीन के पास पहुंचे तो मैंने कहा मैं नहीं आउंगी क्यूंकि मेरे पास पैसे नहीं |

उन लड़कियों में से एक लड़की ने मुझे कहा कि थोड़े पैसे तो स्कूल में लेकर आया करो,

फिर वो चले गए और मैं किसी कोने को खोजते हुए चली गयी |

उस दिन के बाद स्कूल की recess के वो 30 मिनट मुझे कभी अच्छे नहीं लगे.

मैं हमेशा यही सोचती थी कि ये 30 मिनट जल्दी से निकल जाए |

Recess में मैं हमेशा स्कूल के किसी कोने में अकेली बैठी रहती थी और इंतज़ार करती थी कि कब bell बजेगी और मैं क्लास में जाउंगी |

स्कूल के बाद मुझे जल्दी से घर भी पहुंचना होता था क्यूंकि मेरी माँ खेतों में काम पर जाती थी और मुझे अपनी छोटी बहन का ध्यान रखना पड़ता था |

कई बार तो मेरी माँ मेरी छोटी बहन को अपने साथ ही स्कूल ले आती थी ताकि मैं उसे लेकर घर जा सकू और माँ अपने काम पर |

दोस्तों, यही है एक गरीब की सच्चाई, गरीब का कोई दोस्त नहीं होता और अगर हो तो वो भी गरीब ही होता है |

यही से मैंने कुछ करने की ठानी और नतीजा यह निकला की आज मैं एक सफल ब्लॉगर हूँ |

आज मुझे किसी बात की कोई कमी नहीं हैं और साथ में ख़ुशी भी हैं की यह सब मैंने अपने म्हणत से किया हैं |

Pagalworld free

Bollywood song

geet mp3 songs,

high-quality ringtone,

the latest music online,

Pendujatt, Dj Gaana

Songs.pk com

Hungama

about me